DIP diet plan in Hindi

DIP diet plan दवा नहीं है यह एक सही तरीके का खाना है जो हमें खाना चाहिए जो DIP diet हमारे शरीर को चाहिए जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रह सके और हमारे शरीर के  अंदर स्फूर्ति बनी रहे

और जो खाना मैं अपने इस आर्टिकल में बताने जा रहा हूं उससे हम स्वस्थ रह सकते हैं यह खाना हर बीमारी के लिए लाभदायक है बाकी आपको जो पसंद है

वह आप ले  सकते हैं लेकिन कम मात्रा में और आपको इस DIP diet plan को फॉलो करना है जो एक कारगर तरीका है अपने शरीर को स्वस्थ रखने का और

DIP diet plan in hindi

यह खाना आप किसी भी बीमारी में ले सकते हैं चाहे आपको सर्दी जुखाम है चाहे आपको शुगर की बीमारी है चाहे आप का बीपी लो है

चाहे आप का बीपी हाई है कोई भी बीमारी में यह DIP diet खा सकते हैं।

D.I.P Diet LENE KA TARIKA

पहला नियम:

हमें किसी भी पशु उत्पाद से बना या पशु का मांस नहीं खाना है जैसे बहुत से लोग चिकन खाना पसंद करते हैं बहुत से लोग मछली खाना पसंद करते हैं

लेकिन हमें कोई भी मांसाहारी भोजन नहीं खाना है और हमें दूध से बने उत्पाद भी नहीं खाने हैं चाहे वह दूध है पनीर है या चाय है दूध से बनी कोई भी उत्पाद हमीद नहीं खानी है

और इसके साथ- साथ आपको तेल की मात्रा भोजन में कम रखनी है जैसे रिफाइंड हो सके तो ना के बराबर खाए डॉ विश्वरूप चौधरी का मानना है कि

रिफाइंड को न यूज़ करें तो ही अच्छा है हमें ऑर्गेनिक तेल इस्तेमाल करना चाहिए।

dip diet plan for fitness india 2020

दूसरा नियम :

मार्केट में जो सफेद चीनी आती है उसका इस्तेमाल आप कम से कम करें चीनी के स्थान पर आप गुड़ का यूज कर सकते हैं

सफेद नमक की जगह पर आप सेंधा नमक या काला नमक यूज करें यह ज्यादा फायदेमंद होते हैं सबसे महत्वपूर्ण बात यदि सब्जिया सीजन के हिसाब से खाते हैं

तो यह बहुत अच्छी बात है क्योंकि जो सब्जी बिना सीज़न के आती है मार्केट में वह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है

और आप पैकेट वाली कोई भी उत्पाद ना खरीदें क्योंकि पैकेट वाले उत्पाद में कई तरह के suplement मिले  होते हैं शराब और धूम्रपान के नशे से बचें किसी भी तरह का नशा न करे।

तीसरा नियम:

रात को 8:00 बजे के बाद हमें खाना नहीं खाना चाहिए और किसी भी प्रकार का भोजन हमें नहीं करना चाहिए

क्योंकि पूरे दिन के खाने के बाद हमारे शरीर को खाना पचाने का समय चाहिए और आराम चाहिए।

सुबह सुबह नाश्ते में क्या खाएं

सुबह-सुबह आपको फल खाने हैं और वो भी सीजन के हिसाब से जो फल सीजन में आते हैं जैसे सेब केला अंगूर सीजनल फल आपको खाने हैं

कितनी मात्रा में खाने हैं

खाने का यह तरीका इस प्रकार है कि यदि आपका वजन 70 किलो है तो आपको अपने वजन को 10 से गुणा करनी है और गुणा करके जो संख्या आएगी जैसे :    70 x 10 = 700

यहां पर हमने अपने वजन को 10 से गुणा किया और यहां 700 gm आया तो आपको 700 ग्राम फल खाने हैं

और वह भी 12:00 बजे तक या आप उन फल को एक साथ खा सकते हैं या धीरे-धीरे करके 12:00 बजे तक खा सकते हैं।

दोपहर के भोजन में क्या खाएं

पहली प्लेट:

दोपहर के भोजन में आपको 2 प्लेट लगानी है पहली प्लेट में आपको अपने शरीर के वजन को 5 से गुणा करनी है जैसे:

आपका बॉडी वेट   70×5=350 gm

यहां हमारा 350 आया तो आपको 350  ग्राम सीजनल सब्जियां लेनी है वह भी अलग-अलग कोई भी चार या पांच प्रकार की आप सब्जियां ले सकती हैं

,टमाटर, शलजम ,चुकंदर शिमला मिर्च, पत्ता गोभी हरी सब्जियां  सीजनल होती हैं आप ले सकते हैं आपको उन को मिक्स करना है और बिना पकाए

दूसरी प्लेट:

दूसरी प्लेट में आपकों  जो  पसंद है वह खाना है जो आप अब खाते हैं वह खाना है जैसे पराठे डोसा जो भी आपको पसंद है

आप यह पेट भर कर भी आ सकते हैं लेकिन याद रखें जो भी आपको खाना है वह घर पर बना होना चाहिए पहली प्लेट के बाद ही आपको दूसरी प्लेट में जो आप अक्सर खाते वह खाना है

snack  में क्या खाएं:

स्नेक्स में आपको अपनी बॉडी वजन के बराबर खाना है जैसे आपका बॉडी भजन 70 किलोग्राम है तो आपको 70 ग्राम स्नैक्स खाने हैं

स्नेक्स में आपको नट्स अंकुरित आहार खाना है और वह भी बिना तले भुने आप चाहे तो स्वाद बढ़ाने के लिए उस पर काला नमक या सेंधा नमक या नींबू मिला सकते हैं

रात्रि के खाने में क्या खाएं:

जैसा कि हमने अभी आपको बताया 12:00 बजे के बाद आपको क्या खाना है वही तरीका आपको रात्रि में अपनाना है

पहली प्लेट में आपको सलाद अपने बॉडी वेट को 5 से गुणा करके जो भी आए उतने आपको सलाद खाने हैं फिर आपको जो आप खाना चाहते हैं वह आप खा सकते हैं

सावधानियां जो आपको ध्यान में रखनी है

  1. आपको ताजा फल खाने हैं ज्यादा देर तक कटे हुए रखे हुए फल नहीं खानी है
  2. आप अपना चेकअप जो भी आपको बीमारी है समय-समय पर कराते रहिए
  3. जिससे आपको अपनी बीमारी के बारे में पता चलता रहे
  4. अपनी बहू के अनुसार खाएं लेकिन खाएं जरूर यदि आपको कम भूख है तो कम खाएं लेकिन खाएं जरूर खाये। 

क्या हमें इस DIP diet के दौरान दवा लेनी चाहिए:

क्योंकि लोगों के शरीर में बहुत सारी बीमारियां होती हैं जिसकी वह दवाई खा रहे होते हैं इसको बीपी की बीमारी होती है किसी को शुगर की बीमारी होती है

तो उन लोगों का प्रश्न यही होता है कि क्या मैं है यह DIP diet plan लेने पर एलोपैथिक दवाई बंद कर दू। जिस बीमारी की भी आप दवा खा रहे हैं

उस बीमारी की दवा आपको धीरे-धीरे कम करनी है जैसे कि थायराइड थायराइड की दवा हम एकदम से बंद नहीं कर सकते

वह हमें धीरे धीरे बंद करनी पड़ेगी आप यह DIP diet plan फॉलो करिए और आप अपनी दवाइयां जरूरत के हिसाब से कम करते जाइए।

और समय-समय पर जांच कराते रहिए शुगर की जांच बीपीकी जांच जो भी आपको बीमारी है और उसकी जांच समय-समय पर कराते रहिए 

और उसके हिसाब से अगर आपको थोड़ा बहुत सही लगता है तो धीरे-धीरे करके आप अपनी दवाई बंद कर सकते हैं।  

येDIP diet plan नुकसान नहीं हे किसी भी बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति इस DIP diet plan को ले सकता हे उसको फायदा ही होगा नुकसान नहीं।

Leave a Reply